You are currently viewing गृह क्लेश खत्म करने के उपाय।  – Remedies to end home troubles.
grah-kalesh-khatam-kaise-kre-JYOTISH-TOTKE

गृह क्लेश खत्म करने के उपाय। – Remedies to end home troubles.

गृह क्लेश खत्म करने के उपाय

गृह क्लेश खत्म करने के उपाय, सामान्य तौर पर गृह क्लेश और छोटे-मोटे झगड़े-झंझट की समस्या आम घरों में होती है, लेकिन कई बार इसकी स्थिति बेहद गंभीर हो जाने से व्यक्ति और परिवार का विकास रूक जाता है। इस तरह कि समस्या जिस व्यक्ति के घर में आती है उसे ज्योतिषी से अपनी जन्म कुंडली का विश्लेषण करवाकर ही उपाय के तरीके अपनाने चाहिए।

ज्योतिष विद्या के अनुसार गृह क्लेश व्यक्ति की कुंडली में चतुर्थ भाव के ग्रहों से दोष उत्पन्न होना और लग्न के ग्रह का बिगड़ी हुई परिस्थति को ठीक करने में असमर्थ रहना है। कुछ लोगों में चंद्रमा के कमजोर प्रभाव के कारण भी गृह क्लेश की स्थिति पैदा हो जाती है।

इसका एक कारण घर का वास्तुदोष भी है। जिसके अनुसार रसोईघर का दक्षिण-पूर्व में घर के मुख्यिा का शयनकक्ष   दक्षिण-पश्चिम, बच्चों के सोने का स्थान उत्तर पश्चिम और शौचालय दक्षिण में नहीं होना चाहिए। इसे ठीक करने के कुछ महत्वपूर्ण उपाय निम्नलिखित हैंः-

पीपल का वृक्षः घर में आए दिन कलह के वातावरण के बनने से घर के मुख्यिा को पीपल के वृक्ष की पूजा करनी चाहिए। संभव हो तो पीपल का पौधा रोपना चाहिए और उसे बड़ा होने लिए देखभाल करनी चाहिए। ऐसा करने से सकारत्मक ऊर्जा और गतिशीलता का संचार होगा। छोटे-छोटे विवाद की ओर ध्यान नहीं जाएगा।

कपूर का गंधः घर मंे सप्ताह मंे किसी एक दिन कपूर जलाएं और उसका सुगंधित धुंआ घर के कोने-कोने मंे फैला दें। इससे घर में शांति और सुकून का वातावरण बन जाता है। गृह-क्लेश में पति-पत्नी का झगड़ा होने के कारण पत्नी को चाहिए रात को सोते समय बगैर किसी टोक टाक के पति के तकिये के नीचे कपूर रख दे और सुबह उसे जला दे। उसके बाद गायत्री मंत्र का 108 बार जाप करे। इसी तरह से पत्नी अपने तकिए के नीचे कमिया सिंदूर रखकर सोए और सुबह उसे घर के में छिड़क दे। जाप का मंत्र इस प्रकार हैः-

ऊँ भुर्भुवः स्व तत्स वितुर्वेण्यम् भर्गो देवस्य धी मही धीयो यो न प्रचोदयात स्वाः!!

कपूर से संबंधित एक और उपाय तनावमुक्ति के लिए महत्वपूर्ण साबित हो सकता है। रात को सोने से पहले पीतल के बर्तन में घी के साथ कपूर को मिलाकर जलाएं। इसकी सुगंध से आप तनावमुक्त महसूस करेंगे और गहरी नींद आएगी। सप्ताह में एक दिन घर में उपले पर गूगल  और कपूर की धूनी देने से भी गृह क्लेश शांत होता है।

प्ंाचमुखी दीपः गृह क्लेश को खत्म करने के लिए मंगलवार के दिन भगवान हनुमान की मूर्ति या तस्वीर के सामने एक पंचमुखी दीप प्रज्ज्वलित करें और अष्टगंध जलाकर उसकी सुगंध पूरे कर घर में फैलाएं। इसके अतिरिक्त गुरुवार और रविवार को गुड़ ओर घी मिलाकर गोबर के उपले पर जलाएं। इससे घर का वातावरण सुगंधित हो जाएगा और आप सकारात्मक महसूस करेंगे।

शिव की उपासनाः भगवान शिव की उपासना करने पर भी गृह-क्लेश से मुक्ति मिलती है। प्रतिदिन सुबह स्नान के बाद स्वच्छ वस्त्र पहनें और मंदिर में जाकर शिवलिंग के सामने बैठ जाएं। दोनों हाथ जोड़कर घर में शांति की विनती करें और नीचे दिए गए मंत्र का रूद्राक्ष के साथ 108 बार जाप करें। उसके बाद शिवलिंग पर जलाभिषेक करें। इस उपाय को सोमवार से शुरू करते हुए नियमित एक सप्ताह तक मंत्रजाप और जलाभिषेक करने से दांपत्य जीवन में सुखमय वातावरण बनता है। जाप मंत्र हैः-

ऊँ नमः संभावाय च मयो भवाय च नमः, शंकराय च नमः शिवाय च शिवतराय चे!!

पीपल को पानीः गृह क्लेश को खत्म करने के लिए घर के मुखिया द्वारा कदम उठाने के क्रम में रात को अपने बिछावन के नीेचे सिरहाने की तरफ या बगल में एक लोटा पानी रख दें। सुबह स्नान आदि से निपटकर घरेलू मंदिर में पूजा अर्चना करने के बाद ऊँ नमो भगवते वासुदेवाय नमः का जाप करते हुए पीपल के पेड़ के पास जाएं और लोटे का पानी चढ़ा दें। इसे उपाय की शुरूआत रविवार की रात्री से नहीं करें।

शिवमंदिर में नारियलः सोमवार के दिन भगवान शिव के मंदिर में नारियल चढ़ाने से गृह क्लेश से मुक्ति मिलती है। उसके बाद उस नारियल को वहीं फोड़कर उसके पानी में दूध मिलाकर शिवलिंग पर आधा चढ़ा दें। बाकि से घर में खीर बनाकर घर के सभी सदस्यों को प्रसाद के तौर पर खिलाएं। यह उपाय घर के सदस्यों के बीच एकता बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।

गणेश भगवान की पूजाः घरेलू झगड़े को खत्म करने के लिए बुधवार के दिन भगवान गणेश की पूजा करें। यादि आप घर के मुखिया हैं तो देसी घी के लड्डु, तुलसी और चिरौंजी के अतिरिक्त  धूप-दीप, फूल आदि पूजन सामग्री के साथ मंदिर में जाएं। भगवान गणेश की प्रतिमा के सामने बैठकर धूप और दीप जलाएं। पूजन के बाद लड्डु और दूसरी सामग्रियों का भोग लगाएं। बची सामग्रियों को प्रसाद के रूप में घर लोकर सभी लोगों के बीच वितरित कर दें।

निर्जला एकादशीः गुह क्लेश को दूर करने में निर्जला एकादशी का विशेष महत्व है। इसका उद्यापन भगवान हनुमान के मंदिर में जाकर करें। साथ में एक सफेद धागा ले जाएं। उसे हनुमान की मूर्ति पर लगे सिंदूर से रंग दें और उसे घर लाकर चैखट पर बांध दें। घर में सुख शांति लाने वाला यह एक अच्छा उपाय है। इस दिन घरेलू वस्तुओं का दान भी करें। इसके अलावा घर में भगवान सत्यनारायण का पूजा करवाने से भी घर में शांति का वातवरण बनता है।

कुछ टोटके

  • यदि आर्थिक तंगी के कारण गृह क्लेश पैदा हो गया है, तो अपने कमरे के चारो ओर फिटकिरी रखें।
  • रोजगार या कारोबार में कमी आने की स्थिति में लगातार 43 दिनों तक एक सिक्का गंदे नाले में डालें, या फिर चांदी का सिक्का अपनी जेब में रखें।
  • काली या चितकबरी गाय को अपने वजन के बराबर हरी घास खिलाएं।
  • प्रतिदिन पूजा के बाद अपने माथे पर केसर का तिलक लगाएं। बाद में उसे अपनी जीभ और नाभी पर लगा लें।
  • गृह क्लेश में कारण बने राहू के प्रभाव को कमजोर करने के लिए एक नारियल के ऊपर सरसो तेल के साथ काले तिल का तिलक करें और उसे बहते पानी में प्रवाहित कर दें।
  • मंगल के कारण उत्पन्न हुई गृह क्लेश को खत्म करने के लिए एक मुट्ठी चावल के दाने को लाल चंदन से रंगकर लाल कपड़े में पोटली बना लें और अपने सिर के चारो ओर घुमाकर मंगलावार के दिन प्रातः सूर्योदय से पहले या फिर सूर्यास्त के ठीक बाद हनुमान मंदिर में उनकी प्रतिमा के सामने रख आएं।  

गृह क्लेश खत्म करने के उपाय। – गृह कलह के कारण और निवारण | Grah Kalesh Nivaran ke Upay

 

गृह क्लेश खत्म करने के उपाय।,गृह कलह के कारण और निवारण,Grah Kalesh Nivaran ke Upay,गृह क्लेश,गृह क्लेश शांति के उपाय,गृह क्लेश निवारण यन्त्र,गृह क्लेश के कारण,सास-बहू गृह क्लेश शांति के उपाय,घर में मनमुटाव,मनमुटाव दूर करने का उपाय,गृह शांति के आसान उपाय

Any other Enquiry Call and Wahtsapp

+91 9950528152

You Want to Buy this Product discuss with pandit ji he will guide you how to buy and use this product.

Leave a Reply